आशा कार्यकर्ता का अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी

| June 14, 2015 | 0 Comments

जमुई। अपनी दस सूत्री मांगों के समर्थन में बिहार राज्य आशा कार्यकर्ता संघ के आह्वान पर आशा कार्यकर्ताओं ने हड़ताल पर जाने का निर्णय लेते हुए सदर अस्पताल परिसर में धरना दिया जिसकी अध्यक्षता सूर्यमोहन रावत ने की। मौके पर आशा कार्यकर्ताओं ने बताया कि सरकारी कर्मी का दर्जा देने, पन्द्रह हजार रुपये मासिक वेतनमान करने तथा पचास प्रतिशत एएनएम की बहाली में आशा का समायोजन करने, एक लाख का बीमा व मातृत्व अवकाश के अलावा चेक के माध्यम से भुगतान करने की मांग के समर्थन में वे लोग अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चली गई हैं। धरना में सरिता देवी, पिंकी कुमारी वर्मा, उषा कुमारी भगत, सुधा सिन्हा, प्रमिला सिंह, नीतेश्वर आजाद शामिल हुए।

झाझा : रविवार को स्थानीय रेफरल अस्पताल में प्रखंड के आशा कार्यकर्ताओं ने अपनी मागों को लेकर धरना प्रदर्शन किया। जिला उपाध्यक्ष रेशमा नाज की नेतृत्व में आयोजित प्रदर्शन कार्यक्रम में आशा कार्यकर्ताओं ने अपनी दस सूत्री मागों का एक ज्ञापन अस्पताल प्रभारी को दिया। इस मौके पर सभी आशा कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील की गई। इस अवसर पर निशा कुमारी, अंजू कुमारी, बेबी कुमारी, सरीता कुमारी, मालती कुमारी, यशोदा कुमारी, प्रीति कुमारी सहित कई आशा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

अलीगंज : आशा कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रदेश आशा संघ के आह्वान पर अलीगंज इकाई आशा कार्यकर्ताओं ने संघ के प्रखंड अध्यक्ष मीरा कुमारी के नेतृत्व में सैकड़ों आशा ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अलीगंज में मुख्य गेट पर अपनी दस सूत्री मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया और स्वास्थ्य सेवाओं को बंद कराया जिससे मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। मरीजों को बिना दवा व इलाज कराए वापस घर लौटना पड़ा। आशा संघ के प्रखंड अध्यक्ष मीरा कुमारी ने बताया कि हम सभी आशा जीतोड़ मेहनत करते हैं फिर भी वाजिब मजदूरी नहीं मिलता है। जब तक हमलोगों को वाजिब हक नहीं मिलता तब तक हमलोगों का अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगा। आशा कार्यकर्ताओं ने दस सूत्री मांगों में आशा को सरकारी दर्जा, 15 हजार मासिक वेतन, आशा को एएनएम में समायोजन, एक लाख का बीमा, मातृत्व अवकाश, मरीजों को बैंक एकाउंट से भुगतान नहीं कर चेक के माध्यम से किया जाए, स्वास्थ्य कर्मचारी की मनमानी पर रोक लगाया जाए, आशा भवन हॉल की निर्माण बकाया राशि का भुगतान, आशा को हटाने की धमकी पर रोक लगाया जाए आदि मांग पत्र प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी को सौंपा। मौके पर उषा कुमारी, अंजु देवी, प्रमिला देवी, कुसुम देवी, शांति देवी, विनिता देवी, सुरंजना देवी, बबिता देवी, रीता वर्मा, रम्भा देवी, सविता देवी के अलावे बड़ी संख्या में आशा कार्यकर्ता उपस्थित थीं।

Courtesy: Jagran

Tags: , , ,

Category: Bihar NEWS