कमाऊ पुत्र की मौत से भुखमरी के कगार पर परिवार

| June 16, 2015 | 0 Comments

बरबीघा (शेखपुरा) : महादलित परिवार के 25 वर्षीय युवक पंकज को उंची जाति की लड़की से प्रेम करने की कीमत जान देकर चुकानी पड़ी। पिटाई से जख्मी हुए युवक की मौत तीन दिन पूर्व पटना में इलाज के दौरान हो गई। अपने पुत्र की जान बचाने के लिए मां मंती देवी को दो लाख रुपये में अपना आशियाना तक गिरवी रखना पड़ गया। इसके बाद भी युवक की जान नहीं बचाई जा सकी। कमाऊ पुत्र के मौत के बाद पीड़ित परिवार भुखमरी के कगार पर आ गया है।

पंकज नालन्दा थाना क्षेत्र के मोहनपुर गाव में रहकर नेटवर्किंग कंपनी से जुड़कर कार्य कर रहा था। इसी दौरान उंची जाति की लड़की के प्रेम जाल में वह फंस गया। युवती के परिजनों को जब युवक के बिरादरी के बारे में जानकारी मिली तो मानों उस पर आफत आ गयी। युवती के भाइयों ने 29 मई की रात युवक को मारपीट कर अधमरा कर दिया। जिसका इलाज पटना में कराया जा रहा था। युवक की मौत के बाद से उसके घर चूल्हा नहीं जला है। उसके छोटे भाई-बहनों को पड़ोसी खाना दे जाते हैं मगर किसी के गले से निबाला नहीं उतरता है। परिवार के इस बेबसी पर पूरा गांव मातम मना रहा है। बिहार दलित विकास समिति के प्रभारी बसंत कुमार, भाजपा के महादलित नेता भोला रविदास, शिक्षक राजेन्द्र कुमार, ओमदास, रामविलास दास, राजेश रविदास एवं आदित्य कुमार ने सरकार एवं प्रशासन से पीड़ित परिवार के लिए मुआवजे और आरोपियों पर कार्रवाई की की माग की है।

Courtesy: Jagran

Tags: , ,

Category: Bihar NEWS