कर्ज लेकर कफन खरीद रहे गरीब

| June 19, 2015 | 0 Comments

भागलपुर। नगर के गरीब और बेसहारा लोगों को कर्ज लेकर कफन खरीदना पड़ रहा है।

दरअसल निगम के महादलित और गरीबी रेखा के नीचे गुजर-बसर करने वाले सैंकड़ों परिवारों को बीते तीन वर्षो से कबीर अंत्येष्टि योजना से वंचित रखा गया है। इस योजना के तहत गरीबों को परिजनों की अंत्येष्टि के लिए आर्थिक मदद उपलब्ध कराई जाती है। दुख की घड़ी में जनप्रतिनिधि भी गरीबों की मदद के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। दरअसल कबीर अंत्येष्टि की राशि पार्षद और कर संग्राहक के संयुक्त खाते में समाजिक सुरक्षा कोषांग डालता है। वित्तीय वर्ष 2012-13 से ना ही तो पार्षद और ना ही कर संग्राहकों के खाते में राशि डाली गई और ना ही लाभुकों को इस योजना का लाभ मिला। इस दिशा में निगम प्रशासन भी उदासीन है।

वार्ड एक के पार्षद काकुली बनर्जी ने बताया कि बीते दो वर्षो में 36 परिवारों को इसका लाभ नहीं मिल पाया है। इनके लिए सामाजिक सहयोग से मदद की व्यवस्था की गई। नगर निगम के समाजिक सुरक्षा कोषांग के प्रभारी चित्रकेतु झा ने बताया कि पार्षद को बैंक में दो खाते खोलने हैं। पहला खाता कबीर अंत्येष्टि सामान्य घटक और दूसरा खाता कबीर अंत्येष्टि विशेष घटक का खोला जाना है। खाता को जिला समाजिक सुरक्षा कोषांग में भेजा जाएगा, तभी पार्षदों के खाते में वार्ड वार राशि भेजी जाएगी। इस योजना के तहत बीपीएल परिवार को पूर्व में 1,500 रूपये देने का प्रावधान था, लेकिन वर्तमान में इस राशि को बढ़ाकर 3,000 हजार रुपये कर दी गई है। नगर निगम के एक से 51 वार्डो में अब तक 37 पार्षदों द्वारा बैंक में खाते नहीं खुलवाने के कारण राशि आवंटित नहीं हो सकी है। कई पार्षदों की विवशता है कि कर संग्राहक के समय-समय पर तबादले के कारण बैंक खाता खोलने में कठिनाई हो रही है।

इन वार्डो ने खाते के लिए दिया है आवेदन :

-01, 02, 05, 06, 08, 12, 30, 32, 34, 39, 42, 43, 47 व 50

Courtesy: Jagran

Tags: , ,

Category: Bihar NEWS