July 21, 2018

प्रसूति की मौत पर हंगामा

गया। गया पुलिस लाइंस के पास स्थित एक महिला चिकित्सक के यहां गुरुवार को एक महिला मरीज की मौत के बाद परिजन चिकित्सक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा किया। टाउन डीएसपी आलोक कुमार सिंह के हस्तक्षेप के बाद स्थिति सामान्य हुई। पीड़ित परिवार कानूनी कार्रवाई की मांग को लेकर रामपुर थाना में लिखित आवेदन दिया है।

डीएसपी श्री सिंह के अनुसार औरंगाबाद के नवीनगर थाना के खैरा गांव की एक महिला को प्रसव पीड़ा होने पर उक्त महिला चिकित्सक के पुलिस लाइंस स्थित नर्सिग होम मे गुरुवार की सुबह आठ बजे भर्ती कराया गया। सर्जरी से महिला ने एक स्वस्थ शिशु को जन्म दिया। एक घंटे के बाद महिला को सामान्य वार्ड में हस्तांतरित कर दिया गया। महिला तेज दर्द से परेशान थी। परिजन चिकित्सक को बुलाने की मांग करते रहे। लेकिन चिकित्सक नही आई। दोपहर तीन बजे मरीज की स्थिति जब अत्यंत नाजुक हो गई। तब चिकित्सक पहुंची। इसके पूर्व वहां मौजूद कपांउडर ने मरीज को एक इंजेक्शन दे दिया। चिकित्सक ने आक्सीजन लगाया। फिर कुछ ही समय बाद घोषणा कर दी कि ‘सी इज नो मोर’। परिजनों का आरोप है कि कपांउडर अप्रशिक्षित है। चिकित्सक की लापरवाही के कारण मरीज की मौत हो गई।

डीएसपी श्री सिंह ने आगे बताया कि मरीज की मौत के बाद परिजन हंगामा करने लगे। जिसके बाद चिकित्सक नर्सिग होम से फरार हो गई। टाउन डीएसपी श्री सिंह ने उपरोक्त जानकारी देते हुए बताया कि परिजनों के द्वारा लिखित फर्द बयान दिया जा रहा है। जिसके बाद कानूनी प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

Courtesy: Jagran

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *