साक्षरता योजना के लिए 15-16 का ग्रांट अब तक नहीं

| September 8, 2015 | 0 Comments

PATNA: बिहार में साक्षरता से जुड़ी योजना कागज पर खूब तेज है, पर सेक्रेटेरिएट स्थित ऊपरी मंजिल पर जनशिक्षा के ऑफिस तक पहुंचें, तो बाहर कागज का कचरा दिखता है. इन्हीं कागजातों पर एक कागज दिखता है साक्षर भारत योजना से जुड़े विज्ञापन का. इसका स्लोगन है-देकर साक्षरता की परीक्षा, पूरी कर लें मन की इच्छा. क्भ् मार्च ख्0क्भ् को यह परीक्षा हुई. ये विज्ञापन पोस्टर जिस तरह से आधा फटा हुआ यहां पड़ा दिखा, कमोबेश यही हाल है बिहार में साक्षरता का. ऑफिस में प्रवेश करने पर पता चला अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर बड़े आयोजन में असिस्टेंट डायरेक्टर मोहम्मद गालिब और जनशिक्षा की डायरेक्टर ऊषा चौधरी भाग लेने को दिल्ली में हैं. एन अन्य अफसर आर के झा को सरकार ने पोशाक वितरण में लगा दिया है. चुनाव होने वाले हैं, इसलिए सरकार की चिंता है कि समय से पोशाक का वितरण हो जाए. जनशिक्षा का ऑफिस से नीचे उतरने पर सूबे के शिक्षा मंत्री पीके शाही से उनके मंत्री चैम्बर में मुलाकात हुई. मंत्री जी का आरोप ये है कि केन्द्र समय से राशि ही नहीं देता.

ख्0क्ब्-क्भ् का ग्रांट आया था फ्क् मार्च को

बिहार में साक्षरता का सच ये है कि इंतजार की इंतिहा हो गई और केन्द्र से ग्रांट नहीं आया. ख्0क्भ्-क्म् का ग्रांट ही नहीं आया है. साल ख्0क्ब्-क्भ् में ग्रांट स्वीकृत हुआ था क्क् करोड़ ब्ब् लाख रुपए, पर गजब बात ये कि फ्क् मार्च को ही ये पत्र आया, इसलिए निकासी नहीं हो पायी थी. अब उसकी निकासी की जा रही है. केन्द्र का अंश 8 करोड़ भ्8 लाख रुपए और राज्य का अंश ख् करोड़ 8म् लाख रुपए. इसकी कैबिनेट से भी स्वीकृति हो गई है.

सरकार की नजर में..

– बिहार में साक्षरता से जुड़ी जो योजनाएं चल रही हैं, उनमें महादलित अल्पसंख्यक, अतिपिछड़ा वर्ग की महिलाओं के लिए मुख्यमंत्री अक्षरांचल योजना चल रही है. ये योजना क्भ् से फ्भ् उम्र की महिलाओं के लिए है.

– साक्षर भारत कार्यक्रम हर जाति लोगों के लिए है. यह क्भ् प्लस के लोगों के लिए है.

– सरकार की ओर से जारी आंकड़ों पर गौर कर तो पाएंगे कि मुख्यमंत्री अक्षर आंचल योजना के तहत वर्ष ख्009 से ख्0क्0 तक फ्फ् लाख से ज्यादा महिलाएं साक्षर हुईं.

– वर्ष ख्0क्क् की जनगणना में राज्य की महिलाओं की साक्षरता दर में ख्0 फीसदी की दशकीय वृद्धि दर्ज की गई.

– वर्ष ख्0क्फ् से महादलित, अल्पसंख्यक एवं अति पिछड़ा वर्ग अक्षर आंचल योजना के तहत ख्79भ्फ् केन्द्रों में लगभग ख्0.70 लाख महिलाएं लाभान्वित हुईं.

– वर्ष ख्0क्0 से अब तक 77,9म्,ख्7म् निरक्षरों को एनआईओएस के माध्यम से बुनियादी साक्षरता महापरीक्षा का आयोजन कर उतीर्ण घोषित किया जा चुका है.

Courtesy: Jagran

Tags: , , ,

Category: Education NEWS